computer परिचय- Computer Overview

आज के समय में आपको भरपूर सूचनाएं आसानी से और जल्दी मिल जाती है ऐसा हमेशा से नही था. ये सब computer की वजह से हो पाया है. Computer ने हमारी जिंदगी को आसान बना दिया, अगर आप कुछ सोचने की क्षमता रखते है, तो computer उसे पूरा करने में हमारी मदद करता है तो आखिर computer है क्या?(computer kya hai?)

What is Computer Hindi?

Computer का अविष्कार किसने किया. आसान शब्दों में समझा जाये की computer क्या है तो ये आपके द्वारा दी गयी कामों को electronic तरीके से पूरा करती है.

Computer आमतौर पर हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों का input लेता है फिर उस input को store करता है process करता है फिर रिजल्ट देता है output के रूप में.

Computer क्या है? Computer kya hai?

Computer एक electronic data machine है जो input लेता है store करता है फिर output देता है. ये अपने से कुछ नही करता है आप जो निर्देश इसे देंगे ये उसी को करेगा और बहुत तेजी से.

आप computer की जानकारी computer से ही ले रहे है अभी. Computer रोजमर्रा की जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुकी है.

computer kya hai

इसका इस्तेमाल हर जगह किया जाता है जैसा की factory, office, school, share market, railway, airplane, shopping mall, power plant और हर जगह जहाँ आप देखेंगे आपको computer दिखाई देगा.

आपने Bitcoin के बारे में जरूर सुना होगा, नही तो cryptocurrency के बारे में ये सभी computer से ही संचालित होते है. Computer के बिना internet कुछ नही है मतलब की कुछ भी नही, न आप इसे चला पाएंगे और नाही आप कोई काम कर पाएंगे internet पर.

Google, Facebook, what’s app सभी बंद हो जायेंगे.

Computer शब्द एक latin word से लिया गया है जिसका नाम computore है जिसका मतलब calculation मतलब गणना करना होता है.

Computer की परिभासा, Definition of Computer

Computer एक ऐसा device है जो इस्तेमाल किया जाता है, data को store करने के लिए, जानकारी को ढूंढने और संचित करने के लिए, गणना करने के लिए.

और इसका इस्तेमाल दूसरे machine को control करने के लिए भी किया जाता है. एक computer software और hardware से मिलकर बनता है.

कंप्यूटर कैसे काम करता है? How Computer works Hindi?

हम सभी जानते है की computer software और hardware से मिलाकर बनता है. Computer से कोई भी काम करवाने के लिए हम software या hardware का इस्तेमाल करते है. Computer कोई भी काम 3 steps में करता है.

(question) Input – process – output (result)

how computer works in hindi

Input – इसी step में computer को बोलते है की भाई तुम (computer) मेरे लिए ये काम करदो.

जैसा की अगर आप चाहते है की computer आपके लिए गुना करे तो इसके लिए computer को calculator(software) चाहिए होगा. इसके लिए आपको computer में calculator नामक software खोलना होगा.

अगर आप चाहते है की computer 2 में 2 गुना करे तो आप keyboard का इस्तेमाल करेंगे और computer को input data देंगे यहाँ पर हमारा input data 2 है.

यहाँ हमारा काम खत्म हो जाता है और अब सारा काम computer खुद करेगा दूसरे step में

process – अब computer आपके द्वारा दिए गए data को process करेगा मतलब की हमने उसे बोला था 2*2 करने को, तो वो यही करे, मतलब हमने जो निर्देश दिया है उसको पूरा करेगा और result देगा.

Output – इस step में computer दिए गए data को process करके result देगा जिसे हम output बोलते है . हमने जो सवाल किया था उसका रिजल्ट देगा computer screen पर 2*2= 4. हमे result display करेगा 4.

तो computer सीधी भासा ऊपर दिए गए तीन तरीकों से काम करता है.

हमने इस सेक्शन में जाना की computer को input data देना होता है.

Input device क्या होता है? What is input device in Hindi?

Input device हम उस device को बोलते है जिसका इस्तेमाल कर हम computer को निर्देश देते है. जैसे की –
keyboard, mouse, joystick etc.

Output device क्या होता है? What is an output device in Hindi?

सीधी शब्दों में computer जिस device पर result देता है हम उसे output device कहते है. जैसे- Monitor, speaker और printer.

Computer का अविष्कार किसने किया?

Modern computer के जनक Charles Babbage को कहा जाता है. ऐसे इसलिए कहा जा है क्यूंकि programmable computer का आईडिया इन्ही का था, जिसे Analytical engine कहा जाता है जिसे उन्होंने 1833 से 1871 के बीच develop किया है.

Computer kya hai 1

Computer का इतिहास – History of computer in Hindi

Abacus को भी computer कहा जाता है. Computer का डेवलपमेंट असल में कब से शुरू हुआ इसका कोई पक्का सबूत नही है.

इलसिए computers को उसके speed, size और reliability के अनुसार अलग – अलग generation में बाँट दिया गया है. इन computer की in Hindi को 5 हिस्सों में बता गया है.

Wifi calling kya hai, Kaise Kare?

First Generation Computer –

ये दौर 1946 – 1959 तक first-generation computer का था. इस दौर के computer JP Eckert और JW Mauchy ने खोजा था, जिसका नाम ENAIC था, ENAIC का full form “Electronic Numeric Integrated And Calculator”.

First-generation computer example
  1. ENAIC
  2. EDVAC
  3. UNIVAC
  4. IBM – 701
  5. IBM – 650

इन computer में vacuum tubes का इस्तेमाल किया गया था जो उस समय का एकमात्र electronic component था.

ये computer millisecond में calculate calculate क्र सकता था. लेकिन इस computer की बहुत सारी परेशानी थी जैसे की इसका size बहुत बड़ा था और इसका वजन 30 टन था.

ये computer बहुत महंगे थे, अगर storage की बात जाये तो बहुत काम information रख सकता था. Storage के लिए electronic drum का इस्तेमाल किया गया था.

क्यूंकि इसमें vacuum तुबेस का इस्तेमाल किया गया था और ठंडा रखने के लिए बहुत बड़े cooling सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता था. इसकी working efficiency भी काफी कम थी.

इस computer में input करने के लिए punch card का इस्तेमाल किया जाता था. इसकी programming capability भी काफी limited थी. लेकिन इन सब के बावजूद भी ये कंप्यूटर की नीव थी.

Second Generation computer

Second generation computer का दौर था 1959 – 1965 तक. और इसमें transistor का इस्तेमाल किया गया था vacuum tubes की जगह.

Second-generation computer example
  1. Honeywell 400
  2. IBM 7094
  3. CDC 1604
  4. CDC 3600
  5. UNIVAC 1108 etc.

हमे पता है की इस computer में transistor का इस्तेमाल गया था जिसके कारण इसका आकर बहुत कम हो गया. सिर्फ एक vacuum तुबे हटने से बहुत इम्प्रोवेमेंटहुआ जैसे की कम बिजली की खपत, ऊष्मा का कम उत्सर्जन, जो first generation में बहुत होता था.

Input के लिए इसमें भी punch card का इस्तेमाल होता था, इसमें assembly language का इस्तेमाल किया जाता था.

अगर speed की बात की जाये तो 1st gen computer millisecond में calculation कार४ता था लेकिन 2nd gen computer microsecond में करता था.

लेकिन इस computer को भी ठंडा करने के लिए बड़े coolers की जरुरत पड़ती थी.

Third Generation computer

ये दौर 1965 – 1971 का था. इस दौर के computers में यानि की 3rd gen के computers में नाही vacuum tubes का इस्तेमाल किया गया नाही transistor का, इसमें ICs Integrated circuit का यूज किया गया था. Transistor IC में रखते थे.

IC की खोज Robert Noyee और Jack kilby ने 1918 – 1959 के बिच किया था. Second gen computers के मुकाबले इस gen के computers काफी सस्ते थे और reliable भी और साथ-साथ तेज भी थे.

इसमें ICs का यूज किया गया था तो इसका size भी बहुत कम हो गया था. इस gen की computers की एक और खास बात थी की इसकी storage capacity ज्यादा थी और इस computer में सबसे पहले keyboard और mouse का इस्तेमाल हुआ था.

इस computer और इसके resources को अच्छी तरह से manage करने के लिए operating system का इस्तेमाल किया था.
इस दौरान ही calculation का समय microsecond से घटकर nanosecond हो गया था.

लेकिन इस computer की कुछ disadvantage भी थी जैसे की उस समय IC को manage करना थोड़ा मुश्किल और उस समय इसे लाना भी मुश्किल था.

Third Gen Computer example
  1. PDP-8
  2. PDP-11
  3. IBM-360
  4. IBM-370
  5. ICL-2900

Fourth-generation computer

ये दौर 1971 – 1980 का था और इस gen के computer में microprocessor का इस्तेमाल हुआ था.

Microprocessor का इस्तेमाल लिसी भी program में कोई logical या फिर arthimetic function को पूरा करने के लिए किया जाता है.

इन computers में GUI का अच्छी तरह से इस्तेमाल किया गया users के comfort के लिए. ये computer previous gen computer से काफी तेज थे. इसमें heat generation ना के बराबर होता था.

इस computer में सभी तरह के high level programming language का इस्तेमाल किया जा सकता था.

इस computers में microprocessor का इस्तेमाल किया था, इसका fabrination और design करना काफी complex है.
अब हमलोग आगे बढ़ने वाले है.

Fourth gen Computer ex
  1. STAR 1000
  2. CRAY-X-MP(Supercomputer)
  3. CRAY-1

Fifth-generation computer

ये समय अभी का है. 1980 – से लेकर अभी तक fifth-gen computer का युग है. ये दौर Artificial intelligence और Machine learning का है.

Fifth gen computers की सबसे खास बात है की ये Natural language (मनुष्य की भाषा) में जवाब दे सकते है. ये computer अपने आप सिख सकते है.

इस gen के computers काफी ज्यादा तेज होते है. आपके हाथ के smartphone का previous gen के computers से कोई मुकाबला नहीं है.

ये computer USLI technology (Ultra large Scale Inegration) पर आधारित है. जिसके कारण ऐसे microprocessor chips का production शुरू हुआ जिसमे लगभग 10 million electronic component होते है.

Fifth gen computers example
  1. Desktop
  2. Laptop
  3. Notebook
  4. Smartphone etc.

ये computer बहुत ज्यादा stable और fast भी होते है.

कंप्यूटर के मुख्य घटक Main Components of Computer

असल में कंप्यूटर कुछ सहायक यंत्रो से मिलकर बनता है। इसे हम components of computer भी कहते है। अपने अगर कभी CPU के अंदर देखा होगा तो बहुत सारे तार और पार्ट्स देखे होंगे उन सभी को जोड़ कर बनता है।

इन सभी पार्ट्स को देख कर ऐसा लगता है की इसे बनाने के लिए इंजीनियर की जरुरत पड़ेगी.

लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है आप खुद से अपने घर में computer assemble कर सकते है, इससे जुड़े Youtube tutorials मिल जायेंगे मैंने भी वही से सीखा है। यहाँ निचे मैंने एक youtube video दिया है जिसे आप देख कर computer अस्सेम्ब्ले कर सकते है, ये कोई rocket science नहीं।

अब बात कर लेते है main components of computer के बारे में। कुल मिलकर 8-10 components है जो मिलकर एक computer बनाते है-

  1. Motherboard
  2. Processor
  3. RAM
  4. Hard Drive
  5. Power Supply Unit
  6. Expansion Card (ये ऑप्शनल होता है।)
  7. Monitor
  8. Keyboard
  9. Mouse
  10. Printer etc…

अब हम थोड़ी-थोड़ी सभी component की जानकारी लेंगे। सबसे पहले Motherboard क्या है? जान लेते है।

Motherboard क्या है? What is motherboard Hindi?

नाम से ही पता चलता है की ये कंप्यूटर का सबसे जरुरी हिस्सा है। क्युकी ये सभी दूसरे component को एक दूसरे से जोड़ता है। मतलब की माँ की तरह सभी बच्चो को एक साथ रखती है। ये दिखने में card-board की तरह होता है लेकिन इसे बहुत सारे slots(जगह) होते है जिसमे सभी दूसरे components को जोड़ा जाता है। इसे में हम लोग pendrive, keyboard, Mouse, Processor, RAM और Storage device जोड़ते है।

CPU/Processor क्या है?

इसे कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता है, क्युकी ये ही पुरे सिस्टम को कण्ट्रोल निर्देश देता है। ये भी motherboard में ही लगता है।

इसी के नाम से हम जो डब्बा होता है उसे CPU बोलते है। हम जो भी निर्देश देते है CPU ही उसे process करता है, इसे पता होता है की किस डाटा को किसे भेजना है और क्या करना है।

कोई भी computer कितना पॉवरफुल होगा ये CPU ही डीडे करता है मतलब जितना मजबूत CPU है उतना ही powerful computer होगा।

इसे बनाने वाली कुछ कम्पनीज़- Intel AMD Qualcomm Mediatek etc

RAM क्या है?

RAM को Random Access Memory बोलते है। इसे temporary या फिर short-term memory बोलते है क्युकी ये data को तब तक save रखता है जब-तक computer खुला रहता है.

अगर आप डाटा सेव नहीं करेंगे और computer बंद कर देंगे तो आपका data lost हो जायेगा। इसी लिए harddrive या phir SSD का यूज किया जाता है permanent data save करने के लिए।

RAM size को MB और GB में मापा जाता है।

Hard Drive

इसे system का मेमोरी कहा जाता है, क्युकी ये हर तरह की डाटा को सेव रखता है। इसी में आपका Operating system games important files और Softwares यही पर सेव रहते है है। इसे MB(Mega byte), GB(Giga byte) और TB(Tera Byte) में मापा जाता है।

Power Supply Unit PSU

इसे computer का powerhouse कहा जाता है क्युकी ये हर एक डिवाइस को power supply करता है।

ये इस लिए जरुरी है क्युकी हर component को उसकी जरुरत के हिसाब से ही पावर देता है। इस लिए कहा जाता है की computer बनाते समय जरुरत के हिसाब से PSU चुनना जरुरी होता है।

ये साडी जानकारियाँ computer basics है, और मैंने कोशिस की है काम से काम शब्दों मैं आप सभी को ये समझा सकू की computer kya hai?

अगर आपको समझ में आ गया की what is computer in Hindi तो निचे कमेंट में है लिखे और नहीं तो न, मैं इसे और समझाने की कोशिस करूँगा।


2 Comments

himanshu · July 14, 2020 at 3:04 pm

Very nice article thanks for sharing this

VINEET PAL · July 21, 2020 at 9:22 pm

this post was a very informational same topic I am searching for last time before but finally, I am getting right answer.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *